Monday, June 29, 2009

आज का विचार-२

दुनिया में उत्तरजीविता और सुखी रहने के दो नि.यम हैं-

१. जो पसंद है उसे हासिल करना सीख

२. जो हासिल है, उसे पसंद करना सीख लें.


मंजीत ठाकुर, मेदिनीपुर से दार्शनिक मूड में क्योंकि मूड सही नहीं है।

4 comments:

Udan Tashtari said...

गहरा दार्शन!!

Udan Tashtari said...

दार्शन = दर्शन

‘नज़र’ said...

प्रेम ही महामंत्र है

---
चर्चा । Discuss INDIA

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

सत्य वचन!!!!