Wednesday, March 24, 2010

फोटॉग्रफर गुस्ताख़- ब्रह्मपुत्र की तस्वीरें

ये तसवीरें मैंने उस वक़्त ली, जब मैं अरुणाचल प्रदेश के दौरे पर था. रास्ते में गौहाटी और डिब्रूगढ़ में मैं ब्रह्मपुत्र स मिला.. उसका सौन्दर्य मोहित करने वाला है. शाम का धुंधलका अभी पूरी तरह छाया भी नहीं था..सूरज ने अपनी किरणे समेटनी शुरू कर दी थी..सूरज को जाल समेटते और एक मछुवारे को जाल फेंकते देख मैं खुद को रोक नहीं पाया..

ब्रहमपुत्र सम्मोहित करने वाला नद है. लगा किसी ने पिघला हुआ सोना पानी में उड़ेल दिया हो.


पहली बार जब मैंने तस्वीर लेने की कोशिश की तो कुछ ख़ास आया नहीं. क्लिक करने स पहले ही जाल पानी में. लेकिन दूसरी बार मई कामयाब रहा. पेश-ए-नज़र है.



8 comments:

Suman said...

nice

sanjaygrover said...

Bhai, mazedar hai aapka parichaya, fotu, vagerha. kisi din fursat se dekhna padega.

Udan Tashtari said...

वाकई मोहित करते दृश्य!!

आभार आपका बांटने के लिए.

Sonal Rastogi said...

बहुत सुन्दर चित्र

मुनीश ( munish ) said...

lovely and breathtaking pics of Lohit ! I , however, came here to tell u that i found only one sane comment out of 25 on T-shirt post @ Ravish's blog and that is yours.
The kids have not read girly T-shirts indeed !

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

बढ़िया फोटो...

seema gupta said...

बेहद मनमोहक चित्र
regards

डॉ .अनुराग said...

झकास है बीडू....एक दम ....