Thursday, December 29, 2011

सनीः भारतीय पुरुषों के सपनों की नई रानी

नी लियोनी...ने बिग बॉस में धमाल मचाने के बाद एक नया करिश्मा कर दिया है। टीवी के रियलिटी शो से चुपके से निकल कर इस पॉर्न स्टार ने भारतीय पुरुषों के सपनों में घुसपैठ कर ली है। हाल तक शीला की जवानी मर्दों के सपनों में धमाल मचाती रहती थीं...लेकिन करीना, कतरीना, ऐश्वर्य..सबको पीछे छोड़ दिया, करण मल्होत्रा उर्फ करणजीत कौर वोहरा उर्फ सनी लियोनी ने।
सनी परदे पर हों तो लोग सुनना नहीं, देखना पसंद करते हैं
भारत जैसे देश में जहां आज सेक्स पर बात करना भी वर्जित माना जाता है, वहां बिग बॉस के आयोजकों को भी सनी के सीधे प्रवेश पर शक हो रहा था। उन्हें लग रहा था कि शायद भारतीय लोग सनी के विरोध में सड़कों पर उतर आएं। लेकिन मेरे एक नजदीकी दोस्त की तरह सनी के शैदाई भी कम नहीं।

मेरे सहयोगी और मित्र को सनी की मादक काया के साथ ही उसका मासूम चेहरा तो भाता है ही, हजरत सनी की मीठी आवाज के कायल भी है। कभी लीगल कॉरेस्पांडेंट रहे मेरे इस दोस्त के सपनों पर सनी का कब्जा हो गया है।

मेरे इन रिपोर्टर साथी की आंखों में सनी की कशिश अकेली उनकी ही समस्या नहीं है। इस सूची में सनी को सराहने वाली भारतीय युवा पीढ़ी की एक पूरी तादाद है।

इंटरनेट के जमाने में पॉर्न सामग्री कोई वर्जित फल की तरह नहीं है। ऐसे में सनी लियोनी और प्रिया अंजलि राय, गंदे माने जानेवाले इस धंधे में भारतीय परचम की तरह है।
क्या सनी लियोनी विद्या बालन के इश्कि़या और डर्टी पिक्टर वाले देसी सौन्दर्य का एनआरआई जवाब है?

मैं सनी के सौन्दर्य का निश्चित रुप से प्रशंसक हूं, लेकिन साफ कर दूं कि मैं पॉर्न को महिमा मंडित करने कोशिश नहीं कर रहा। साथ ही उसका विरोध भी नहीं कर रहा।

सवाल है कि एडल्ट फिल्मों में काम कर रही इस सुपरस्टारनी के कदम अब बॉलिवुड में भी पड़ चुके हैं। इससे किसे चिंतित होना चाहिए। महेश भट्ट ने जिस्म-2 सनी को ऑफर भी कर दिया है। इसके साथ ही दर्जनों निर्माता भी सनी से संपर्क साध रहे हैं।

हमें सनी की अभिनय क्षमता पर संदेह नहीं होना चाहिए। लेकिन, भारतीय सेंसक बोर्ड अभिनय के जिन मानकों को पास करता है सनी उस तरह का अभिनय कर पाएंगी, यही सवाल लाख टके का है। क्योंकि सनी के अभिनय के मानक भारतीय सेंसर और दर्शक शायद ही खुले तौर पर हजम कर पाएँ।
कतरीना करीना की नींद उड़ा दी है सनी ने

फिर भी, गूगल पर सर्च के मामले में सनी ने भारतीय पुरुषों के सपनों की रानियों को पछाड़ दिया है। सनी को कतरीना  से दस गुना ज्यादा बार सर्च किया गया है।

भारतीय फिल्म उद्योग में संभावनाओं के देखते हुए सनी ने अपने तमाम वीडियो विभिन्न वेब साइटों से डिलीट करवा दिए हैं। हमें पता है कि हम जैसे चित्रांगदा सिंह के मर मिटने वाले प्रशंसकों को छोड़ दें ( देसी बॉयज़ जैसी दो कौड़ी की फिल्म हमने महज चित्रांगदा के लिए देखी) साथ ही एक बड़ी तादाद ऐसे लोगों की भी है, जिनके लिए सनी के लटके-झटके, चेहरे के अलमस्त हाव-भाव ही काफी हैं।

तो क्या विद्या बालन के देसी सेक्स अपील के जवाब में विदेशी खुलेपन के साथ एनआरआई सेक्स अपील आयात की गई है...क्या एक सिल्क स्मिता पुरानी कहानी में नए ट्विस्ट की तरह फिर से इंडस्ट्री में लाई गई है। जो मजबूरी में नहीं मनमर्जी से हार्डकोर पॉर्न व्यवसाय को करिअर बनाती है।

भारतीय पुरुष नेट पर सनी को तलाश रहे हैं...फिल्मवाले बेकरारी से एक मसाला आय़टम को रुपहले परदे पर पेश करने को तैयार हैं...और सपनों में एक नया मादक रंग आ गया है...यह रंग गुलाबी नहीं, सनी है।


5 comments:

Unknown said...

sahi kaha boss

Rama said...

सही कह रहे हो बॉस जलवा का जादू चल रहा है

Rama said...

सही कह रहे हो बॉस जलवा का जादू चल रहा है

Rahul Singh said...

हम चित्रांगदा सर्च कर ले रहे हैं अब.

दीपक बाबा said...

देर रात में सब चलता हैं :)