Tuesday, March 25, 2008

हेडलाईन टुडे का ब्ला-ब्ला एड

अंग्रेजी का एक चैनल है हेडलाईन टुडे..। शायद आपने कभी देखा भी हो। जैसा कि नाम से जाहिर है टीवी टुडे ग्रुप का उपक्रम है। टुडे ग्रुप के लोगों को लगता है कि दुनिया उन्ही के बल पर चलती है। खासकर मीडिया की दुनिया। उनका हाल में बना और इन दिनों प्रसारित हो रहा एड त कम से कम यही जाहिर कर रहा है। टीवी स्क्रीन पर पहले राजदीप सरदेसाई, विनोद दुआ, करन थापर, योगेंद्र यादव, अरनव गोस्वामी समेत टीवी की दुनिया के तमाम दिग्गज इसके विग्यापन में ब्ला-ब्ला कहते नजर आते हैं। टीवी देखने के लिए सोफे पर लेटा हुआ लड़का ऊबकर टीवी बंदकर देता है।

कहने का गर्ज ये कि अंग्रेजी चैनलों में महज हैडलाईन टुडे ही देखने योग्य है। बाकी सब वितंडा है, कोरी बकवास है। सिर्फ टीवी टुडे नेटवर्क के दो कौड़ी के चैनल ही दर्शनीय हैं। चाहे तेज़ हो, आजतक या एचटी। शिव शंभो। आत्म मुग्ध होना बुरी बात नहीं। गुस्ताख भी आत्म मुग्ध है, लेकिन दूसरों का मजाक बनाना? गुस्ताख को लगता है कि राखी सावंत और ऐसे कपडे खिसकने -खिसकवाने वाली कवरेज करने वाले इस नेटवर्क का अजेंडा ही कुछ और है। मजबूत से लडजाने वाले इंसान को लगता है कि इस कृत्य से उसकी गिनती भी मजबूत लोगो में होने लगेगी। एक ओर जहां अंग्रेजी के दूसरे चैनल एक हद तक सार्थक कवरेज करते हैं, वहीं एचटी के स्तर का सबको पता है।

वहीं एक और समसया है, मीडिया में इस डाल से उस डाल की बंदरकूद होती ही रहती है। कल को अगर दुआ साहब या राजदीप टीवी टुडे जॉईन कर लें तो भी क्या यह एड चलता ही रहेगा?

5 comments:

Pankaj Bengani said...

सब एक ही थाली के चट्टे बट्टे हैं. इस ग्रुप का हिन्दी चैनल आजतक तो ब्ला ब्ला के मामले मे सबका बाप है.

yati lad said...
This comment has been removed by the author.
yati lad said...

well i donot want 2 coment on ur views what i wan 2 say is that bla bla bla !!!bla bla? bla bla bla ....hahahahahah tat ad is too funny n i was shoked 2 c duplicate of karan thapar pata nai usko kahase utha kar le aaye duplicate karan thapar even his expresion ny ways bla.....

कुश एक खूबसूरत ख्याल said...

bilkul sahi kaha aapne..

Sarvesh said...

Mere khayal se wo add kahta hai ki baaki channels par bekar ka bla bla discussion chalte rahat hai. Pannelists ko baitha kar. News kum aur discussion bahut jyada hota hai. Ye bore bahut karta hai chaahe wo jo bhi channel ho. Actually wo bachcha wo bakwas ka pannelists ka discussion sun kar TV off karta hai naa ki news sun kar. Headlines today shayad news contents jyada aur pannelists discussion kum dikhata ho.
Aapka analisys oos ad ke baare me mujhe thoda oolta laga.