Friday, February 20, 2009

तस्वीरे- मांडवी की मौत, जुआरी के साथ जुआ

मांडवी नदी गोवा के जन-जीवन में वही महत्व रखती है जो हमारे शरीर मे नसों का है। मांडवी और जुआरी नदियों को गोवा की जीवन रेखा कहा जाता है। परिवहन से लेकर पेय जल तक हर मसले पर मांडवी और जुआरी नदियों ने गोवा को जिंदगी बख्शी है। लेकिन खनन और ऐसी ही दूसरे मानवीय कामों ने मांडवी और जुआरी से ही जीवन छीनना शुरु कर दिया है। नदी का पानी गंदला हो चुका है। तस्वीरों पर गौर फरमाएं और चाहें तो अपने ब्लॉग पर छाप कर हमारे अभियान का हिस्सा बनें --













नदियों को गंदा कर क्या हम अपने ही पैर पर कुल्हाड़ी नहीं मार रहे?

2 comments:

Anonymous said...

निश्चित ही गंदा कर रहे हैं।

विनय said...

गंभीर समस्या बस यही बात होती है, इससे आगे कुछ हो तो जाके कुछ सार्थक होगा!

---
गुलाबी कोंपलें
सरकारी नौकरियाँ